नागरिक चार्टर Next
उत्तर प्रदेश नगर पालिका अधिनियम 1959 में नगर पालिका को विभिन्न नगरीय सेवाओं हेतु नगर के नागरिको को उपलब्ध कराने का दायित्व दिया गया है। भारतीय संविधान के 74वें संशोधन और उसकी 12वीं अनुसूची को दृष्टिगत रखते हुए स्थानीय निकायों का दायित्वों में पर्याप्त अभिवृदि्ध हुई है।
उत्तर प्रदेश नगर पालिका अधिनियम 1959 उक्त के परिप्रेक्ष्य में निकायों का दायित्व बनता है कि वे नागरिकों को मूलभूत रखते हुए नगर पालिका द्वारा नागरिको चार्टर प्र्रस्तुत किया जा रहा है, जिसमें नागरिकों को पथ प्रकाश, यातायात, सफाई, सडक सम्बन्धित त्वरित निस्तारण की समयबऱ्ध कार्यवाही की जानकारी दी जा सकेगी।
यह नागरिक चार्टर निम्नलिखित सिऱ्धान्त/उऱ्देश्यों की दृष्टिगत रखते हुए प्रस्तुत किया जा रहा है
  • पालिका के कार्य निष्पादन को व्यापक रूप से प्र्रचारित करना।
  • सेवाओं की गुणवत्ता सुनिश्चित करना।
  • जन शिकायतों की प्रभावी निस्तारण।
  • नगरीय सेंवाओं के सम्बन्ध में मानक के अनुसार जवाब देही सुनिश्चित करना।
  • प्रत्येक स्तर पर पारदर्शिता रखना।
  • नगरीय सेवाओं का नियमित करना।
  • नगरीय सेवाओं के प्रति जागरूकता, प्रतिबऱ्धता एवं जन सहभागिता जागृत करना।
हमारा संकल्प अनवरत सेवा
हमारी प्रतिबऱ्धता उच्च कोटि की गुणवत्ता
नागरिको द्वारा की गई शिकायत के निस्तारण में शिथिलता बरतने अथवा कार्यवाही न करने पर निम्नानुसार कार्यवाही की जाएगी।
  • लगातार तीन शिकायतों पर कार्यवाही निर्दलीय करने पर स्पष्टीकरण
  • स्पष्टीकरण संतोषजनक न होने पर चेतावनी
  • लगातार चार शिकायतों पर कार्यवाही न करने पर कठोर चेतावनी
  • लगातार 6 शिकायतों पर कार्यवाही न करने पर प्रतिकूल प्रविष्टि
  • लगातार 6 से अधिक शिकायतों पर कार्यवाही न करने पर विभागीय कार्यवाही